चीन में छोटे लंड से इंडियन चूत की चुदाई


Click to Download this video!

(China Me Chhote Lund Se Indain Chut Ki Chudai)

दोस्तो, मैं फेहमिना एक बार फिर आप सबके सामने अपनी नई कहानी लेकर हाजिर हूँ।
आप सबने मेल के जरिये अपना बहुत सारा प्यार मुझे दिया इसके लिए आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद।

बहुत सारे अन्तर्वासना पाठकों ने मुझे नई कहानी लिखने को कहा था क्योंकि मेरी पिछली कहानी
शिमला टूअर में सेक्स टीचर के साथ
को प्रकाशित हुए दो महीने हो चुके थे.
तो अब मज़ा लीजिये एक नई चुदाई कहानी का।

आप सभी मेरे बारे में जानते तो हैं ही… मगर अपने नये पाठकों के लिए मैं फिर से अपना परिचय दे देती हूँ। मेरा नाम फेहमिना इक़बाल हैं। मैं 26 साल की एक खूबसूरत लड़की हूँ, मेरा फिगर 34-28-34 हैं।

जैसा कि आप सभी जानते है कि मैं दिल्ली में प्राइवेट कंपनी में काम करती हूं, और 2 साल में 3 प्रमोशन का राज मेरी मेरे बॉस के साथ कुछ रंगीन रातें बिताना है। मेरा ठरकी बॉस मुझे चुदाई के वक़्त पूरा संतुष्ट करता है, उसका लन्ड 7 इंच लंबा और 4 इंच मोटा है. हालांकि मैंने इससे भी बड़े लन्ड लिए हैं मगर इसकी चुदाई की ताकत मैं कायल हूँ।
खैर छोड़िये इसे… यह कहानी मेरे बॉस की नहीं है।

चलिए तो अब आते हैं असली कहानी पर!

फरवरी में मैं अपने बॉस के साथ आफिस के काम से चीन गयी थी, वहाँ की किसी कंपनी के साथ बिज़नेस की बात होनी थी।
खैर हम दोनों चीन पहुँचे, वहाँ हमने एक आलीशान होटल में रूम बुक किया हुआ था। तो जाते ही हम दोनों सो गए। शाम को हम दोनों उठे तो चुदाई का एक राउंड कर लिया तो शरीर एकदम फ्रेश हो गया।
फिर हम लोग बीजिंग घूमने निकल गए क्योंकि मीटिंग अगले दिन सुबह को थी।
ये पहला मौका था जब मैं चीन आयी थी तो मैं बहुत ज्यादा उत्साहित थी।

हम पूरा दिन चीन घूमते रहे, रात को वापस होटल में आकर डिनर करके फिर से चुदाई का सीन बन गया और अनुज (मेरा बॉस) ने मुझे स्टडी टेबल पर नंगी करके चोदना शुरू कर दिया। पूरी रात हमने 3 बार चुदाई की।

अगलू सुबह हम दोनों तैयार होकर मीटिंग के लिए निकल गए। वहाँ जाकर देखा तो वो एक बहुत बड़ा ऑफिस था। अंदर जाकर हमारी उस कंपनी के बॉस के साथ मीटिंग शुरू हो गयी, वहाँ अनुज और मैं और उस कंपनी का बॉस योंग और उसके सेक्टरी थी।
मीटिंग मैं ऐसा कुछ खास नहीं हुआ तो अब आगे बढ़ते हैं।

हां, मीटिंग में मैंने नोटिस किया कि योंग बार बार मेरी जांघों को घूर रहा था लेकिन मैं नार्मल ही रही।
खैर मीटिंग के बाद हम चारों ने साथ में लंच किया।
लंच के वक़्त योंग मेरे पास बैठा था और बीच बीच में वो मेरी जांघों को सहला रहा था. अनुज ने ये सब देख लिया था तो वो मुझे आंख मार कर योंग का साथ देने का इशारा कर रहा था।

मैंने भी आंख मार कर अपनी सहमति व्यक्त कर दी और योंग का साथ देने लगी।
यह मेरे लिए पहला मौका था जब मैं किसी चाइनीज़ पुरुष के साथ ये सब करने वाली थी। बहुत देर तक वो मेरी जांघ सहलाता रहा, फिर उसने अचानक सबके सामने मेरे बूब्स पकड़ लिए. उसके इस हमले से हम सब चौंक गए तो वो अनुज से बोला कि वो मेरे साथ सेक्स करना चाहता है।

अनुज कुछ नहीं बोला तो उसने अपनी सेक्टरी को अनुज के पास जाने का इशारा किया। उसके सेक्टरी जाकर अनुज की गोद में बैठ गयी और उसे किस करने लगी.

इधर योंग मेरे होंठ चूस रहा था और बूब्स के रगड़ रगड़ का दबा रहा था।

कुछ ही देर में योंग ने सबके सामने मेरी शर्ट खोल दी और मेरी ब्रा भी फाड़ दी और वो मुझे उठा कर बिस्तर पर ले गया. उधर अनुज और योंग की सेक्टरी दूसरे रूम में चले गए।
बिस्तर पर आते ही योंग ने मेरी स्कर्ट और पैंटी दोनों उतार कर मुझे नंगी कर दिया, अब मैं जोश में आ चुकी थी तो मैंने भी उसके कपड़े उतार कर उसे नंगा कर दिया.

उसका लन्ड देखकर मेरी हल्की सी हँसी निकल गयी. उसका लन्ड मुरझाया हुआ 2 इंच का था। योंग मेरी नंगी जवानी देख कर गर्म होने लगा, फिर मैंने उसका लन्ड सहलाना शुरू कर दिया तो उसके लन्ड में हल्का सा कड़कपन आने लगा।

फिर योंग ने उसका लन्ड मेरे मुंह मे डाल दिया तो मैंने उसका लंड बाहर निकाल दिया और चूसने से मना कर दिया। फिर उसके बार बार कहने पर मैंने थोड़ी देर उसका लन्ड चूसा।
तो उसका लन्ड 4 इंच लंबा हो पाया, कहीं न कहीं मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था, मैंने सोचा कि इतने से लन्ड से मेरी इंडियन चुत का क्या होगा. मगर मैंने अपना मन मार कर सेक्स करने की सोची।

फिर उसने मुझे बिस्तर पर लेटकर मेरी चूत चाटनी शुरू कर दी। मुझे उसके चूत चाटने के तरीके में मज़ा आ गया, वो मेरी चूत को जोर जोर से काट रहा था।
इससे मुझे हल्का सा दर्द भी हो रहा था और दर्द के साथ मज़ा भी आ रहा था।

फिर वो 69 में आ गया, अब मैं उसके ऊपर थी और उसका 4 इंच का छोटा सा लन्ड चूस रही थी और वो मेरी इंडियन चूत और गांड का छेद चाट रहा था।
थोड़ी देर बाद वो उठा और उसने एक गोली खा ली. मैं समझ गयी कि वो वियाग्रा की गोली थी.

फिर उसने अपने लन्ड पर कंडोम चढ़ा लिया और मुझे बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया और खुद बिस्तर से उतर गया, फिर उसने मेरी टांग पकड़ कर पीछे खींचा और जोर से मेरी गांड पर थप्पड़ मारा, मैं एआईई ईई करके हल्का सा चीखी।

फिर उसने एक झटके में पूरा लन्ड मेरी चूत में डाल दिया, मुझे जरा सा भी दर्द नहीं हुआ मगर उसे दिखाने के लिए मैं चीख पड़ी, मुझे चीखते हुए देख कर वो बहुत खुश हुआ और फिर जोर जोर से मुझे चोदने लगा।
उसने पोज़ बदल बदल कर मेरी 35-40 मिनट तक चूत की चुदाई की फिर वो ‘आहहह हहह अहह हह हहह…’ करता हुआ झड़ गया।

हालांकि इतनी लंबी चुदाई से मैं भी एक बार झड़ गयी थी। फिर वो मेरे ऊपर ही लेट कर सो गया, उधर दूसरे कमरे में योंग की सेक्टरी के रोने की आवाज आ रही थी.
मैं जब उनके कमरे में गयी तो वहाँ उसकी सेक्टरी एक कोने में बैठकर रो रही थी और अनुज उसे मनाने की कोशिश कर रहा था.

मैंने सेक्टरी को उठाया तो देखा उसकी चूत बहुत छोटी सी थी, और उसकी चूत से हल्का सा खून भी निकल रहा था.
फिर अनुज बोला- यार ये तो साली चूत नहीं दे रही और मेरा लन्ड खड़ा हो रहा है.
मैंने अनुज से बोला- मेरी भी चूत में आग लगी हुई है, उस योंग का तो बच्चों जितना बड़ा था।

फिर अनुज ने मुझे सेक्टरी के सामने ही बाहों में ले लिया और मेरे बूब्स दबाने लगा, फिर मैंने सेक्टरी को अपने पास बुलाया तो वो बेचारी डरते हुए मेरे पास आई तो मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया और अनुज को बोला कि इसकी चूत चाट!
अनुज ने उसकी बालों से भरी हुई चूत चाटनी शुरू कर दी।

थोड़ी देर में वो ‘आहा हाःहः हा…’ करने लगी तो हम दोनों समझ गए कि ये गर्म हो गयी है.
फिर मैंने उसे नीचे लिटाया और अपनी चूत उसके मुंह पर रख दी और अनुज को इशारा किया कि अब इसकी चुदाई शुरू कर दे.

अनुज ने उसकी टांग उठाई और धीरे धीरे लन्ड चूत में डालना शुरू कर दिया, सेक्टरी को दर्द होने लगा मगर अनुज धीरे धीरे लन्ड डाल रहा था.
अचानक अनुज ने पूरा लन्ड एक साथ उसकी चूत में डाल दिया तो वो बेचारी बहुत जोर से चीखने की कोशिश करने लगी मगर मैंने उसका मुंह अपनी चूत से बन्द किया हुआ था तो उसने मेरी चूत में बहुत जोर से काट लिया जिस वजह से मेरी भी बहुत जोर से चीख निकल गयी।

मैं उसके मुंह से हट गई, फिर मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया और अनुज ने उसकी चुदाई जारी रखी।
फिर मैं उसके ऊपर लेट कर उसे किस करने लगी जिस कारण मेरी गांड अनुज की तरफ हो गयी. अब अनुज कभी मेरी गांड में लन्ड डाल रहा था तो कभी सेक्टरी की चूत में।

15 मिनट बाद वो सेक्टरी की चूत में झड़ गया और उसके ऊपर लेट गया।
वो दोनों सो गए।

शाम को हम सबने साथ में एक राउंड चुदाई का किया, चारों ने पार्टनर बदल बदल कर चुदाई का मज़ा लिया।

इस चुदाई के बाद हमें वो डील भी मिल गयी और एक अलग तरह का मज़ा भी मिल गया।
हम लोग वहाँ 5 दिन रहे, इस बीच बहुत बार सेक्स हुआ।

तो दोस्तो, आप सबको मेरी इंडियन चुत की चाइनीज़ लंड से चुदाई की कहानी कैसी लगी, ये आप सब मुझे मेल करके बता सकते हैं। आप सबके मेल का इंतज़ार रहेगा मुझे!


Online porn video at mobile phone